गंगा उफनाई, समैचीपुर चितार में घुसा पानी

झोपडिय़ां जलमग्न, सडक़ पर बनाया ठिकाना
नाव के सहारे आवागमन करने को मजबूर ग्रामीण
शमसाबाद, समृद्धि न्यूज। ढाईघाट स्थित गंगा नदी में बाढ़ आने से पानी ग्राम समैचीपुर चितार में घुस गया है। जिससे लोगों का काफी नुकसान हुआ है। खाने पीने का राशन व कपड़े भींग गये। लोग नाव के सहारे आवागमन कर रहे हैं।
ग्रामीणों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार ढाईघाट गंगा नदी में आई अचानक बाढ़ से गंगा के किनारे बसे ग्राम समेचीपुर चितार में रह रहे ग्रामवासियों की झोपडिय़ों में रात में पानी घुस गया। जिससे खाने पीने का सामान अनाज, कपड़े आदि भीग गये। रात होने के कारण ग्रामीण सामान को सुरक्षित जगह नहीं ले जा सके।बाढ़ का पानी अधिक होने से काफी कठिनाइयों के साथ नाव, बैलगाड़ी, स्टीमर के सहारे सामान को सडक़ किनारे लाकर रख रहें हैं और यहीं पर रहने के लिए पन्नी तान या फूस की झोपड़ी रखकर रहेंगे। बाढ़ से प्रभावित लोगों का कहना है हम इसी प्रकार बाढ़ से प्रभावित होते रहते हैं। सरकार अगर हमारी सहायता करना चाहती है पक्का बांध बनवा दे तो शायद हम हमारे बच्चे पक्के मकानों में रह सकेंगे और आगे चलकर एक नई जिंदगी जी सकेंगे। अच्छी पढ़ाई लिखाई कर अपने देश का नाम रोशन करेंगे और एक खुशहाल जीवन भी जी सकेंगे। बाढ़ से प्रभावित तौफीक पुत्र भद्दन, मुस्तकीम, इस्तकीम, गजाला, गुलप्पा, अनीस वानो, फेजाद, इरफान पुत्र अख्तर, मुफिक पुत्र जमील, हमलेस्वर, मुहीम, ब्रजेश पुत्र अतीक, जहार आलम पुत्र अतीक, हीर मुहम्मद, फिरोज, साकिव पुत्र शौकीन, स्वेर आलम, राज मियां, राजू पुत्र शौकीन, राजीव पुत्र राजे, इरशाद पुत्र शब्बीर, सुवेर फर्मीन, शफीम समेत दो दर्जन से अधिक लोग शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *